Wednesday, August 30, 2017

मुलुंड में बारिश और इंसानियत दोनों बरसी Mulund shows its benevolence on the rainy day


२९ अगस्त की भारी बारिश के चलते मुंबई ठप हो गयी थी. ऐसे मे की मुंबई की लाइफ लाईन सेन्ट्रल रेल्वे और सड़क पर निजी एवं सार्वजानिक परिवहन सेवाएं अस्तव्यस्त हो गयीं थी. इन आपात परिस्थितियों मे मुलुंड मे लोगो को शाम ६ बजे से नाश्ताचाय और रात का भोजन का व्यवस्थापन किया गया. मुलुंड लोहाणा महाजन वाडीमुलुंड गुजराती जैन युवा ग्रुपराजस्थान जैन सोशियल ग्रुपमराठा मंडल मुलुंडश्री गुरुनानक दरबार गुरुद्वारा आदि सेवाभावी संस्था और व्यक्तियों द्वारा विविध सेवाएं उपलब्ध करवाई गयी. मुलुंड विद्यामंदिर स्कुल एवं एच.एम. गाला स्कुल प्रशासन द्वारा नागरिकों के लिए खोला गया था परन्तु यहाँ बिजली नहीं होने की वजह से इन वास्तुओं को ज्यादा उपयोग में नहीं लाया गया. उल्लेखनीय बात यह है के देर रात ठाणे से कल्याण रेल सेवा धीमी गतिसे प्रस्थापित हो जाने के बाद राजेश इंगले एवं उनके सहकारियों के प्रयास से ठाणे जाने के लिए टी.एम.टी. के द्वारा मुलुंड रेल स्थानक से ठाणे रेल स्थानक तक विशेष बस सेवा डेपो अधिकारी श्री जंगले के सौजन्य से उपलब्ध करवाई गयी. आश्चर्य की बात यह है की बेस्ट प्रशासन द्वारा ठीक ऐसी विशेष सेवा को जनता के लिए उपलब्ध करवाने के लिए अपने आप को असमर्थ बताया. विविध राजनैतिक पक्षों के कार्यकर्ता फेसबुक लाइव्ह और व्हाट्सअप आदि समाजमाध्यमों पर कुछ हद तक तो लोगों की मदद करते हुए रास्तों पर दिखे परन्तु सत्ताधारी या विरोधी दल के प्रस्थापित नेतागण एवं लोकप्रतिनिधि कहीं भी नजर नहीं आये. इन आपातकाल परिस्थिति मे भी मुलुंड के एक लोकप्रतिनिधि अपने समर्थकों के साथ लोगों के बीच सेवा देने के बजाय अपना जन्मदिन मानते हुए और दुसरे प्रतिनिधि को अपने मित्रों के साथ बारिश का आनंद लेते हुए समाजमाध्यमों  पर देखा गया जो लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है.





When Mulund flooded due to the heavy rains on 29th August alongwith rest of the city, the facilities provided to the stranded passengers at Mulund have been commendable. Mulund railway station looked like a huge water fall. However, the passengers were taken care of by Mulund Lohana Mahajanwadi, Mulund Gujarathi, Jain Yuva Group, Maratha Mandal, Shri Guru Nanak Darbar Gurudwara  and some other social minded individuals came forward to provide snacks, tea and food for the stranded passengers. Mulund Vidyamandir and H M Gala Schools were thrown open for the public to take refuge. Mr. Rajesh Ingale persuaded T M T to operate shuttle service from Mulund station to Thane Station with the co-operation of its officials Mr. Jangle .  However, reportedly BEST refused to heed to such requests.It is a matter of great disappointment that peoples' representatives were not visible anywhere helping the stranded people once again, proving that citizens have to take care of themselves in hours of need.